पंडित दीनदयाल उपाध्याय राष्ट्रीय सामाजिक सुरक्षा अकादमी (पी डी यू एन एस एस)

कर्मचारी भविष्य निधि संगठन

श्रम एवं रोजगार मंत्रालय, भारत सरकार

आजीवन शिक्षा व्यक्तिगत और संगठनात्मक विकास को बनाए रखती है इस महत्वपूर्ण भूमिका को महसूस करते हुए कि प्रशिक्षण तथा विकास द्वारा संगठन के निरंतर विकास में अहम भूमिका निभाई जाती है, कर्मचारी भविष्य निधि संगठन द्वारा नाटरस की 1990 में स्थापना की गयी। इसकी स्थापना के बाद से, नाटरस सामाजिक सुरक्षा क्षेत्र में प्रशिक्षण, अनुसंधान तथा परामर्श में शामिल संस्थानों में एकप्रमुख संस्थान के रूप में उभर रहा है।

सामाजिक सुरक्षा मे प्रशिक्षण एवं शिक्षा में अग्रणी नाटरस जिसका नाम अब बदलकर “पंडित दीनदयाल उपाध्याय राष्ट्रीय सामाजिक सुरक्षा अकादमी” (पीडीयूएनएसएस) हो गया है, देश में अपनी तरह का एक ही संस्थान है। इसके प्रशिक्षण कार्यक्रम तथा संबंध प्रयासों ने सामाजिक सुरक्षा क्षेत्र में शामिल संगठनों तथा व्यक्तियों को एकीकृत परिप्रेक्ष्य तथा नए विचार प्रदान किए हैं। निदेशक, पीडीयूएनएसएस का रणनीतिक रूप से स्थित फ़रीदाबाद, कोलकाता, चेन्नई तथा उज्जैन में चार आंचलिक प्रशिक्षण संस्थानों तथा शिलोंग में एक उप-आंचलिक प्रशिक्षण संस्थान पर नियंत्रण है।

पी डी यू एन एस एस में, केंद्रीय विष्य निधि युक्त (सीपीएफसी), अकादमी के डीन हैं । केंद्र सरकार द्वारा नियुक्त केंद्रीय भविष्य निधि आयुक्त केन्द्रीय न्यासी बोर्ड के मुख्य कार्यकारी अधिकारी और बोर्ड के पदेन सदस्य है।









सीपीएफसी :  डॉ वी पी जॉय, आई. ए. एस (केरल, 1987)      [ जीवनवृत्तांत ]










निदेशक : श्री राजेश बंसल